न्यूज़

परमबीर सिंह दिल्ली में किससे मिले हैं ?

whom parambir singh met in delhi says ncp leader nawab malik defame maha govt

‘लेटर बम’ पर नया खुलासा

महाराष्ट्र सरकार इस समय संकट के बादलों से घिरी है| मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की उगाही के आरोप लगाए हैं| इसके बाद वहां की सियासत में जोरदार उछाल आया| एनसीपी के वरिष्ठ नेता और राज्य के मंत्री नवाब मलिक का इस बारे में कहना है कि महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने की ‘साजिश रची गई है|

चिट्ठी पर सवाल

परमबीर सिंह की चिट्ठी की टाइमिंग पर पर शिवसेना और उनके समर्थक सवाल उठा रहे हैं| वे कह रहे हैं कि ये सब दिल्ली में बैठे लोगों के इशारों पर हो रहा है| ऐसे ही नवाब मलिक का कहना है कि  परमबीर सिंह दिल्ली गए थे और हम सब जानते हैं कि वह वहां किससे मिले और क्या चर्चा हुई, इसका खुलासा जल्द ही होगा| जब सच सामने आएगा तो चौंकने की बारी उनकी होगी|

नहीं हटेंगे देशमुख

एनसीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मलिक का कहना है कि पार्टी ने यह फैसला किया है कि अभी देशमुख को इस्तीफा देने की कोई जरूरत नहीं है| देशमुख की किस्मत पर फैसला जांच पूरी होने के बाद लिया जाएगा| कल शरद पवार ने भी इस बारे में शिवसेना और एनसीपी के कुछ नेताओं के साथ बैठक की थी| उस बैठक के बाद उन्होंने कहा कि देशमुख के बारे में फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे| परमबीर सिंह ने देशमुख पर जो आरोप लगाए हैं वे गंभीर हैं और इनकी गहराई से जांच करने की आवश्यकता है|

शिवसेना यह बता रही है कि 15 फरवरी तक देशमुख अस्पताल में थे और 27 फरवरी तक वह घर पर क्वॉरंटीन में थे| देशमुख ने लोगों से मिलना-जुलना 28 फरवरी से शुरू किया था इसलिए इस पत्र से संदेह पैदा होता है|

Add Comment

Click here to post a comment